UP Election: तीसरे चरण में 59 सीटों पर वोटिंग कल, दांव पर Akhilesh Yadav की किस्मत

UP Assembly Elections Third Phase: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में राज्य के 16 जिलों की 59 विधानसभा सीटों पर तीसरे चरण के लिए रविवार यानी कल वोट डाले जाएंगे. तीसरे चरण में राज्‍य के 16 जिलों के 59 विधानसभा क्षेत्रों में मैनपुरी जिले की करहल (Karhal) विधानसभा सीट भी शामिल है, जहां सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) से केंद्रीय मंत्री प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल (SP Singh Baghel) और मुख्‍य विपक्षी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) आमने-सामने हैं.

627 उम्मीदवार आजमा रहे हैं अपनी किस्मत

मैनपुरी जिले के साथ ही हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, कासगंज, फर्रुखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, झांसी, ललितपुर, हमीरपुर और महोबा जिलों के विधानसभा क्षेत्रों में तीसरे चरण में कुल 627 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

करहल में चुनाव दिलचस्प

अखिलेश मैनपुरी जिले के करहल क्षेत्र से पहली बार विधानसभा चुनाव में किस्मत आजमा रहे हैं. साल 2017 में बीजेपी की लहर में भी सपा के सोबरन सिंह यादव ने इस सीट पर अपनी जीत बरकरार रखी थी. अखिलेश के मुकाबले केंद्रीय मंत्री प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल के बीजेपी उम्मीदवार के रूप में सामने आने से मुकाबला दिलचस्प हो गया है. बघेल पहले ही दावा कर चुके हैं कि किसी भी निर्वाचन क्षेत्र को ‘किला’ या ‘गढ़’ नहीं कहा जा सकता है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा बघेल के लिए प्रचार करने और सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव अपने पुत्र अखिलेश यादव के लिए करहल के वोटरओं के बीच प्रचार कर चुके हैं.

इन चुनावों में अपनी पहली उपस्थिति दर्ज कराते हुए मुलायम ने अपने बेटे के लिए करहल में वोट मांगा, जबकि अमित शाह ने वोटरओं से कहा कि केवल एक सीट (करहल) 300 सीटों का काम कर सकती है. अमित शाह ने कहा था, “करहल में कमल को जीत दिलाएं और राज्य से सपा का सफाया हो जाएगा.” इस बीच, बीजेपी पहले ही चुनाव आयोग से संपर्क कर करहल के सभी बूथों पर केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तैनाती की मांग कर चुकी है. इतना ही नहीं, इसने बघेल के काफिले पर हमले की हालिया घटना के बाद सीसीटीवी कैमरे लगाने की मांग भी की है. अखिलेश के चाचा शिवपाल सिंह यादव अपनी पारंपरिक जसवंतनगर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

असीम अरुण भी इसी चरण में कन्नौज से लड़ रहे हैं चुनाव

तीसरे चरण के कुल 627 उम्मीदवारों में राज्‍य सरकार के मंत्री सतीश महाना (महाराजपुर-कानपुर) और आबकारी मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री (भोगांव-मैनपुरी) रामवीर उपाध्याय (हाथरस – सादाबाद) बीजेपी से चुनाव मैदान में हैं, जबकि पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की पत्नी लुईस खुर्शीद फर्रुखाबाद सदर से कांग्रेस की उम्मीदवार हैं. भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) छोड़कर राजनीति में कूदे अपर पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी रहे असीम अरुण भी इसी चरण में कन्नौज के सदर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के टिकट पर अपनी राजीतिक किस्मत आजमा रहे हैं. साल 2017 में बीजेपी ने तीसरे चरण की 59 सीटों में से कुल 49 सीटें जीती थीं जबकि सपा को सिर्फ नौ सीटों से संतोष करना पड़ा था. कांग्रेस को एक सीट मिली थी, जबकि बहुजन समाज पार्टी को एक भी सीट नहीं मिल सकी थी.

वोटिंग सुबह सात बजे से शुरू होकर शाम छह बजे तक चलेगी. तीसरे चरण में दो करोड़ 15 लाख से ज्यादा वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. इनमें एक करोड़ 16 लाख से ज्यादा पुरुष वोटर और 99 लाख से ज्यादा महिला वोटर हैं, जबकि एक हजार से ज्यादा किन्नर (थर्ड जेंडर) वोटर शामिल हैं. पहले चरण में 10 फरवरी को 58 और दूसरे चरण में 14 फरवरी को 55 सीटों पर मतदान संपन्न हो चुका है. राज्य में सात चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव के सातवें चरण का मतदान सात मार्च को होगा. परिणाम 10 मार्च को आएंगे.

यह भी पढ़ें-

Jammu Kashmir Encounter: शोपियां में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ में दो जवान शहीद, एक आतंकी भी मारा गया

Punjab Elections: वोटिंग से एक दिन पहले मुश्किलों में घिरे Navjot Singh Sidhu, DSP ने दर्ज कराया मानहानि केस

Source link ABP Hindi