Star Labeling on Fan: जून से बदलेगा पंखे खरीदने का तरीका, जान पाएंगे कितनी बिजली कंज्यूम करेगा

Fan Star Labeling: घरों, दफ्तरों, अस्पतालों, संस्थानों लगभग सभी जगह पंखों की जरूरत होती है और इनको खरीदने के लिए ग्राहक अक्सर कीमत या टिकाऊ होने के आधार पर खरीदारी करते हैं. हालांकि जून 2022 से आपके पंखे खरीदने के तरीकों में बदलाव आ जाएगा. ऐसा क्यों होगा ये जानकारी आगे दी जा रही है.

पंखों पर भी होगी स्टार लेबलिंग
एयर कंडीशनर और फ्रिज, कूलर की तरह अब पंखों पर भी बिजली खपत की स्‍टार लेबलिंग अनिवार्य होने जा रही है. भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि इसी साल जून 2022 से पंखों के लिए भी स्टार लेबलिंग मेंडेटरी यानी अनिवार्य हो रही है.

स्टार लेबलिंग का क्या है अर्थ
स्टार लेबलिंग से हमें ये पता चल पाता है कि फलां इलेक्ट्रिक अप्लायंस कितनी बिजली कंज्यूम कर सकता है यानी बिजली की खपत कर सकता है. जब जून 2022 से ये स्टार लेबलिंग जरूरी हो जाएगी तो बाजार में मौजूद सभी कंपनियों के पंखों पर स्टार होंगे जैसे एसी या फ्रिज और कूलर के ऊपर होते हैं. जून 2022 से सीलिंग फैन के लिए स्टार लेबलिंग प्रोग्राम अनिवार्य तौर पर लागू हो जाएगा.

ऐसे होगी पंखों पर बिजली खपत की बचत
दरअसल काउंसिल ऑन एनर्जी, एनवायरनमेंट एंड वॉटर की ओर से हुई एक स्टडी में कहा गया है कि सिर्फ घरों में ट्रेडिशनल पंखों की जगह ऊर्जा कुशल यानी एनर्जी एफिशिएंट पंखे लगा लिए जाएं तो प्रति पंखा सालाना 500 रुपये की बचत की जा सकती है.

ये भी पढ़ें

Stock Market Opening: बाजार में घबराहट, कमजोर ओपनिंग में सेंसेक्स 400 अंक टूटकर 57500 के नीचे फिसला

IT Jobs: खुशखबरी ! मार्च तक आईटी कंपनियां 3.6 लाख नई नौकरियां देंगी, जानें किस रिपोर्ट में किया गया दावा

Source link ABP Hindi