Sachin Tendulkar ने याद किया रिटायरमेंट वाला लम्हा, बताया कोहली से मिला था एक इमोशनल गिफ्ट

Sachin Tendulkar on Virat Kohli: मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अमेरिकी पत्रकार ग्राहम बेंसिंगर (Graham Bensinger) के साथ एक बातचीत के दौरान अपने रिटायरमेंट वाले लम्हे को याद किया है. इन लम्हों को याद करते हुए उन्होंने विराट कोहली से मिले एक खास तोहफे का भी जिक्र किया है. यह वह तोहफा है, जिसे सचिन ने कुछ देर अपने पास रखकर फिर से विराट को लौटा दिया था.

सचिन तेंदुलकर ने 16 नवंबर 2013 को अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच खेला था. 9 साल पहले के इस दिन को याद करते हुए सचिन कहते हैं, ‘मुझे अभी भी याद है. मैं ड्रेसिंग रूम में लौटा ही था और मेरी आंखों से आंसू नहीं रूक रहे थे. मुझे पता था कि मैं रिटायर होने जा रहा हूं. लेकिन जब आखिरी गेंद डाल दी गई तब मैंने खुद से कहा कि अब मैं रिटायर हो गया हूं, अब मैं अपने जीवन में इंटरनेशनल प्लेयर के तौर पर कभी भी मैदान में नहीं जा सकूंगा. मैं एक कोने में बैठकर टॉवेल से अपने आंसू पोछ रहा था. उस वक्त मैं काफी इमोशनल था. इसके बाद विराट कोहली मेरे पास आए और उन्होंने मुझे एक पवित्र धागा दिया. यह उनके पिता ने उन्हें दिया था. मैंने उसे कुछ देर तक अपने पास रखा और फिर उसे वापस लौटा दिया. मैंने उन्हें कहा कि ये बहुत बेशकीमती है और यह तुम्हारे पास ही रहना चाहिए. वह एक बहुत ही इमोशनल लम्हा था.’

गौरतलब है कि विराट कोहली मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को अपना आदर्श मानते हैं. विराट भी ग्राहम बेंसिंगर के शो में आ चुके हैं, जहां उन्होंने सचिन के रिटायरमेंट वाले दिन पर चर्चा की थी. विराट कोहली ने बताया था कि उनके पास दिल के सबसे करीब जो चीज थी, वह उन्होंने सचिन को उनके रिटायरमेंट पर दी थी. विराट ने कहा था, ‘भारत में हम कलाई पर लाल धागा बांधते हैं. मेरे पिता भी एक ऐसा ही पवित्र धागा पहना करते थे. उन्होंने मुझे वह धागा दिया था. मैं हमेशा इसे अपने बैग में रखता था. जब सचिन रिटायर हुए तो मुझे लगा कि मेरे पास यही सबसे कीमती चीज है जो मैं उन्हें दे सकता हूं. उन्होंने मुझे कितना प्रेरित किया है और वह मेरे लिए कितना मायने रखते हैं. यह जाहिर करने के लिए मैंने वह धागा उन्हें तोहफे में दिया लेकिन वह उसे देखकर भावूक हो गए और उन्होंने वह तोहफा नहीं लिया.’

सचिन तेंदुलकर ने टीम इंडिया के लिए 200 टेस्ट और 463 वनडे मैच खेले हैं. अतंराराष्ट्रीय क्रिकेट में उनके नाम 34,000 से ज्यादा रन दर्ज है. उनके इस आंकड़े के आसपास भी कोई खिलाड़ी मौजूद नहीं है.

यह भी पढ़ें..

Ranji Trophy 2022: अजिंक्य रहाणे ने आलोचकों को दिया करारा जवाब, रणजी ट्रॉफी के पहले ही दिन जड़ा शतक

Watch: रणजी ट्रॉफी में U19 खिलाड़ियों का जलवा, Yash Dhull ने जड़ा शतक तो ऑलराउंडर Raj Bawa ने पहली गेंद पर चटकाया विकेट

Source link ABP Hindi