Parenting Tips: बच्चों को शहद खिलाना है फायदेमंद, इम्यूनिटी मजबूत और पेट रहता है हेल्दी

Honey For Kids: बचपन से ही दादी-नानी बच्चों को शहद (Honey) चटाने के लिए कहती हैं. शहद बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. छोटे बच्चों में कई तरह की समस्याओं को शहद से दूर किया जा सकता है. बचपन से शहद खाने से इम्यूनिटी मजबूत (Immunity Booster) होती है. शहद में पावरफुल एंटी-ऑक्सीडेंट (Antioxidant) पाए जाते हैं, जो आपके बच्चे की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हैं. हालांकि आपको शहद खिलाते वक्त बच्चे की उम्र और शहद की मात्रा का ख्याल रखना जरूरी है. कुछ लोग पैदा होते ही बच्चे को शहद चटा देते हैं, लेकिन डॉक्टर्स का कहना है कि 1 साल के बाद ही शिशु को शहद खिलाना चाहिए. इससे पहले शहद खिलाने से कई तरह के इंफेक्शन जैसे क्लोस्ट्रीडियम इंफेक्शन होने का खतरा हो सकता है. शुरुआत में सिर्फ 1 चम्मच शहद खिलाएं. इसके बाद दिन में 2 चम्मच तक खिला सकते हैं.

बच्चों को शहद खिलाने के फायदे

1- इम्युनिटी मजबूत- बच्चों में शहद खिलाने से इम्यूनिटी मजबूत होती है. शहद में कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जिससे बच्चों की इम्युनिटी मजबूत होती है.

2- पेट की समस्या दूर- शहद में कई तरह के एंटीबैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं. अगर बच्चे को कब्ज की समस्या रहती है तो शहद चटाने से इसे दूर कर सकते हैं. शहद से बच्चों में कई तरह की पेट की समस्याएं जैसे बुखार, दस्त और कब्ज भी दूर होती हैं.

3- जुकाम- खांसी में राहत- कई बार बच्चों को सर्दी-खांसी हो जाती है. ऐसे में आप बच्चों को खांसी होने पर शहद चटा सकते हैं. खांसी होने पर आप छोटे बच्चे को सुबह-शाम एक-एक चम्मच शहद खिला सकते हैं. आप चाहें तो शहद में थोड़ा अदरक का रस भी मिला सकते हैं. इससे काफी आराम मिलेगा.

4- मुंह और पेट के छाले दूर- अगर बच्चों के पेट में छाले हो गए हैं शहद दवा की तरह काम कर सकता है। इसमें ऐसे गुण होते हैं जो पेट के छालों को कम करता है। हालांकि अगर सही मात्रा में शहद बच्चों को दिया जाए इससे उनकी कई परेशानियां दूर रहती हैं.

5- हार्ट के लिए फायदेमंद- शहद खाने में बच्चो को बहुत अच्छा लगता है. शहद खाने से ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल रहता है. शहद में लो कैलोस्ट्रोल लेवल होने की वजह से हार्ट संबंधी बीमारियां दूर होती हैं. शहद बच्चों के हार्ट के लिए भी बहुत फायदेमंद है.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें: Parenting Tips: कोरोना में घर में रहने से बच्चा हो गया है चिड़चिड़ा, तो इन 5 बातों का रखें खास ख्याल

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

Source link ABP Hindi