NSE की पूर्व एमडी चित्रा से CBI की पूछताछ, बाबा के प्रभाव में आकर फैसला लेने का है मामला

एनएसई (NSE) की पूर्व एमडी चित्रा रामकृष्ण (Chitra Ramakrishna) सेबी की रिपोर्ट आने के बाद लगातार मुश्किलों में फंसती चली जा रही हैं. केंद्रीय जांच ब्यूरो ने आज मुंबई में चित्रा से साल 2018 के एनएसई घोटाले में पूछताछ की. इसके साथ ही सीबीआई ने चित्रा (Chitra Ramakrishna) समेत उनके दो पूर्व सहयोगियों आनंद सुब्रमण्यम और रवि नारायण के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी करा दिया है. जिसका मतलब साफ है कि यह लोग अब देश छोड़कर भी नहीं जा सकते. इसके पहले आयकर विभाग ने चित्रा के ठिकानों पर छापेमारी की थी.

सीबीआई के एक आला अधिकारी ने बताया कि एनएसई की पूर्व एमडी चित्रा रामकृष्ण (Chitra Ramakrishna) को आज सीबीआई के मुंबई कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया. यह पूछताछ उनसे मई 2018 में दर्ज एक एफआईआर के आधार पर की जा रही है. इस FIR में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अधिकारियों पर आरोप था कि उन्होंने कुछ ब्रोकर्स को अनुचित लाभ पहुंचाया था जिसके चलते नेशनल स्टॉक एक्सचेंज समेत आम निवेशकों को भी भारी नुकसान पहुंचा था.

सीबीआई के आला अधिकारी ने बताया कि सेबी की रिपोर्ट के आधार पर अब जो नए तथ्य सामने आए हैं उन्हें लेकर चित्रा से पूछताछ की जा रही है. ध्यान रहे कि भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड द्वारा हाल ही में एक आदेश जारी किए जाने के बाद चित्रा रामकृष्ण (Chitra Ramakrishna) एक बार फिर विवादों के घेरे में आ गई थी. इस आदेश में सेबी ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि उन्होंने हिमालय में रहने वाले किसी बाबा के प्रभाव में आकर आनंद सुब्रमण्यम को एक्सचेंज में समूह परिचालन अधिकारी और प्रबंध निदेशक का सलाहकार नियुक्त किया.

यह भी आरोप है कि आनंद सुब्रमण्यम को इस लाइन का कोई अनुभव नहीं था. सेबी ने इस मामले में इस नियुक्ति को नियमों के उल्लंघन का आरोप बताया है. इसके लिए सेबी ने रामकृष्ण पर तीन करोड़ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के पूर्व सीईओ रवि नारायण और आनंद सुब्रमण्यम पर 2/2 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया था. चित्रा रामकृष्ण अप्रैल 2013 से दिसंबर 2016 के बीच नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की एमडी एवं सीईओ थी. सेबी की इस रिपोर्ट के बाद चित्रा पर आरोप लगे कि उन्होंने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की अनेक गुप्त जानकारियां भी साझा की और इस कथित बाबा के साथ में विदेशी दौरे पर भी गई थी.

इसके बाद आयकर विभाग ने इसी सप्ताह चित्रा के ठिकानों पर छापेमारी की थी. सीबीआई के आला अधिकारी के मुताबिक सेबी की रिपोर्ट के आधार पर घटनाक्रम में जो ताजा नया मोड़ आया है उसके आधार पर चित्रा से पूछताछ की जा रही है कि साल 2018 के इस दर्ज मामले में जो आरोप सामने आए हैं क्या इस बाबत भी उस कथित बाबा को जानकारी थी और इस मामले में आनंद सुब्रमण्यम तथा अन्य लोगों का क्या रोल था.

सीबीआई के आला अधिकारी ने बताया कि नए घटनाक्रम के आधार पर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व प्रबंध निदेशक चित्रा रामकृष्ण (Chitra Ramakrishna) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के पूर्व सीईओ रवि नारायण और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के पूर्व सीईओ आनंद सुब्रमण्यम के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर भी जारी कराया गया है. सीबीआई को शक है कि यह लोग देश छोड़कर फरार हो सकते हैं लिहाजा इस आधार पर यह नोटिस जारी कराया गया है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक इस मामले में जल्द ही अन्य दोनों लोगों को भी पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा. मामले की जांच जारी है.

तमिल अभिनेत्री Kavya Praveen Thapar को मुंबई पुलिस ने किया गिरफ्तार, मारपीट का है आरोप

Source link ABP Hindi