DU के अंतिम वर्ष के छात्रों ने हाइब्रिड मोड में क्लास जारी रखने मांग की, जानिये पूरी खबर

DU Students demand Class in Hybrid Mode: दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) में बृहस्पतिवार से ऑफलाइन माध्यम (Offline Mode) से शिक्षण कार्य शुरू हो जाएगा. साथ ही शहर के बाहर रहने वाले कुछ छात्रों, विशेषकर अंतिम वर्ष के छात्रों ने मांग की है कि, कक्षाएं “हाइब्रिड (Hybrid Mode)” (ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों) तरीके से चलाई जाएं.

डीयू के सभो कॉलेज 17 फरवरी से दोबारा खुल रहे हैं, जहां ऑफलाइन कक्षाएं बहाल की जाएंगी. कुछ कॉलेज में प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए हाइब्रिड माध्यम से कक्षाएं संचालित की जाएंगी, जबकि दूसरे और तीसरे वर्ष के छात्रों के लिए कॉलेज आकर पढ़ना अनिवार्य होगा. इस कदम से शहर के बाहर के छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिन्हें रहने और यात्रा का इंतजाम करना है.

Delhi News: इतिहासकार गोपाल भारद्वाज ने लता मंगेशकर को समर्पित किया अपना ये खास दिन, जानें क्या है पूरा इतिहास

कुछ छात्रों ने कहा कि परीक्षा नजदीक है और कुछ महीने के लिए रहने का इंतजाम करने का कोई अर्थ नहीं है. दिल्ली विश्वविद्यालय में ग्रेजुएशन में अंतिम वर्ष और पोस्ट ग्रेजुएशन के छात्रों ने एक वेबसाइट के जरिये एक ‘याचिका’ अपलोड की है, जिसमें कहा गया है कि उन्हें केवल दो महीने के लिए वापस न बुलाया जाए. कुलपति, रजिस्ट्रार, प्रॉक्टर और छात्र कल्याण के डीन को संबोधित याचिका पर अब तक 40 हजार लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं.

कल्याणी ए.पी. द्वारा अपलोड की गई ऑनलाइन याचिका में कहा गया, “बाहर रहने वाले कई छात्र दिल्ली यात्रा को लेकर परेशान हैं, लेकिन हमारी आवाज कोई नहीं सुन रहा. मेरे जैसे ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन के कई छात्र हैं जो डीयू में अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रहे हैं.” याचिका में कहा गया, “बाहर रहने वाले जो छात्र अंतिम वर्ष में हैं, उन्हें डिजिटल माध्यम से पढ़ाई जारी रखने का विकल्प दिया जाना चाहिए.”

यह भी पढ़ें:
Uphaar Cinema Fire Tragedy Case: अंसल बंधुओं का झटका, दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की सजा को निलंबित करने वाली याचिका

Source link ABP Hindi