AAP ने ली SFJ से मदद? CM चरणजीत सिंह चन्नी की शिकायत पर अमित शाह जांच कराने के लिए राज़ी

Punjab News: गृह मंत्री अमित शाह ने आम आदमी पार्टी के प्रतिबंधित संगठन सिख फोर जस्टिस से चुनाव में सहयोग लेने के मामले की जांच की गुज़ारिश को स्वीकार कर लिया है. गृह मंत्री अमित शाह ने पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को लिखा है, जिसमें कहा है गया है कि मामले की पूरी जांच कराएंगे. पत्र में अमित शाह ने लिखा है कि गृह मंत्रालय आम आदमी पार्टी के प्रतिबंधित संगठन सिख फ़ॉर जस्टिस से चुनाव में सहयोग लेने के मामले की गहराई से जांच करेगा.

गौरतलब है कि पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने गृहमंत्री को पत्र लिखा था. इस पत्र में उन्होंने आम आदमी पार्टी के प्रतिबंधित संगठन सिख फ़ॉर जस्टिस से चुनाव में सहयोग लेने के मामले की जांच की मांग की थी. अपने पत्र में सीएम चन्नी ने प्रतिबंधित संगठन सिख फ़ॉर जस्टिस के पत्र को भी संलग्न किया था, जिसमें इस प्रतिबंधित संगठन ने आम आदमी पार्टी को समर्थन देने की बात कही थी. इस पूरे मामले को गंभीर बताते हुए चन्नी ने मामले को देश की अखंडता और एकता के लिए ख़तरा बताया था.

अब गृह मंत्री अमित शाह ने सीएम चन्नी की इस गुज़ारिश को स्वीकार कर लिया और पत्र के ज़रिए सूचित करते हुए लिखा है, “आपके पत्र के मुताबिक़ एक राजनीतिक दल का देश विरोधी, अलगाववादी, प्रतिबंधित संगठन से संपर्क रखना और चुनावों में सहयोग लेना, देश की एकता और अखंडता के लिए अत्यंत गंभीर ख़तरा है. ऐसे राजनीतिक दलों का एजेंडा देश के दुश्मनों से अलग नहीं हो सकता है.”

पत्र में आगे गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा है कि ऐसे लोग सत्ता पाने के लिए पंजाब और देश को तोड़ने की सीमा तक जा सकते हैं. गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा है कि मैं आपको आश्वस्त करना चाहूंगा कि देश की एकता और अखंडता से खिलवाड़ करने की इजाज़त किसी को नहीं दी जाएगी. इस मामले को भारत सरकार ने बेहद गंभीरता से लिया है और मैं ख़ुद इसकी गहराई से दिखवाऊंगा.”

अब गृह मंत्री के इस पत्र के बाद साफ हो गया है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं.

Punjab Election 2022: Arvind Kejriwal ने कहा मैं ‘स्वीट आतंकी’, जो लोगों के लिए काम कर रहा

Jammu-Kashmir को लेकर अमित शाह की अध्यक्षता में हुई बैठक – आर्मी चीफ, उपराज्यपाल और NSA रहे मौजूद

Source link ABP Hindi