9.3 करोड़ साल पुराने मगरमच्छ के मिले अवशेष, पेट में इस जानवर का बच्चा मिलने से चौंके वैज्ञानिक

Scientific Research: ऑस्ट्रेलिया (Australia) के परमाणु विज्ञान और प्रौद्योगिकी संगठन (Advanced Nuclear And Synchrotron Imaging) के वैज्ञानिकों ने 9.3 करोड़ साल पुराने एक मगरमच्छ और उसके अंतिम भोजन की खोज की है. दरअसल वैज्ञानिकों ने यह खोज उन्नत परमाणु और सिंक्रोट्रॉन इमेजिंग के जरिये की है. उन्होंने अपनी रिसर्च में इस बात की पुष्टि की है कि सेंट्रल क्वींसलैंड में पाए गए एक 9.3 करोड़ साल पुराने मगरमच्छ के पेट में जो अवशेष मिले हैं वह एक किशोर डायनासोर के हैं.

यह खोज 2010 में ऑस्ट्रेलियन एज ऑफ़ डायनासोर म्यूज़ियम (QLD) ने न्यू इंग्लैंड विश्वविद्यालय के सहयोग से डॉ मैट व्हाइट के नेतृत्व में एक टीम ने की थी. उन्होंने पाया कि मगरमच्छ जिसे वैज्ञानिक भाषा में कॉन्फ्रैक्टोसुचस सॉरोक्टोनोस कह सकते हैं लगभग 2 से 2.5 मीटर लंबा था. इसको वैज्ञानिकों ने सामान्य भाषा में ‘टूटा हुआ’ मगरमच्छ भी कहा था.

टूटे शिलाखंड में मिलने के कारण नाम टूटा मगरमच्छ पड़ा

वैज्ञानिकों ने इसे टूटा हुआ मगरमच्छ इसलिये कहा क्योंकि यह एक विशाल टूटे हुए शिलाखंड में पाया गया था. बोल्डर से एक चट्टान के टुकड़े के प्रारंभिक न्यूट्रॉन इमेजिंग स्कैन ने आंत में छोटे चिकन आकार के किशोर डायनासोर की हड्डियों का पता लगाया, एक ऑर्निथोपॉड जिसे अभी तक प्रजातियों द्वारा औपचारिक रूप से पहचाना नहीं गया है.

सीनियर इंस्ट्रूमेंट साइंटिस्ट डॉ जोसेफ बेविट ने बताया कि डायनासोर की हड्डियां पूरी तरह से घने लोहे के पत्थर की चट्टान के भीतर थीं और जब यह नमूना ANSTO में न्यूट्रॉन की शक्ति के संपर्क में आया था, तब इसकी खोज की गई थी.

न्यूट्रॉन इमेजिंग से मिली काफी मदद

डिंगो जोकि ऑस्ट्रेलिया का एकमात्र न्यूट्रॉन इमेजिंग उपकरण है एक ठोस वस्तु की दो और त्रि-आयामी छवियों का उत्पादन करने के लिए उपयोग किया जा सकता है और इसके भीतर छिपी हुई विशेषताओं को प्रकट कर सकता है. डॉ बेविट ने बताया कि “2015 में शुरुआती स्कैन में मैंने वहां एक दबी हुई हड्डी देखी जो चिकन की हड्डी की तरह दिखती थी और उस पर एक हुक के साथ तुरंत सोचा था कि यह एक डायनासोर था.”

UP Election 2022: अयोध्या के गोसाईंगंज में क्यों गिरफ्तार हुए सपा उम्मीदवार, जानें पूरा मामला

BJP ने सपा पर साधा निशाना, बोले- अखिलेश के पिता मुलायम का आशीर्वाद बहू ‘अपर्णा यादव’ की पार्टी के साथ

Source link ABP Hindi