2021 में स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट हुई New Tech कंपनियों के शेयर हुए धराशायी

New Tech IPO Performance: साल 2021 को आईपीओ के लिए याद किया जाता है. बीते वर्ष आईपीओ में निवेश कर निवेशकों ने खुब कमाई की है. लेकिन हाल के दिनों में 2021 में जो कंपनियां आईपीओ लेकर आईं उनके शेयरों को बाजार में खुब धुनाई हुई है. निवेशक बिकवाली करते नजर आ रहे हैं. दिग्गज स्टार्टअप कंपनियों के शेयरों अपने ऑल टाईम हाई से 60 फीसदी से ज्यादा तक गिर चुके हैं.

देश की चार इंटरनेट बेस्ड कंपनियों पेटीएम (One 97 Communications, नायका (FSN E-Commerce), जोमैटो (Zomato) और पॉलिसीबाजार (PB Fintech) के शेयरों में गिरावट से निवेशकों का 1.30 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. लिस्टिंग के पहले दिन इन कंपनियों की कुल मार्केट वैल्यू 3.58 लाख करोड़ रुपये थी.

IPO प्राइस से नीचे ट्रेड कर रहा पेटीएम
देश के सबसे बड़े आईपीओ लाने वाली कंपनी कंपनी पेटीएम का सबसे बुरा हाल है. पेटीएम का इश्यू प्राइस 2150 रुपये था जो अब 849.95 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है. अपने इश्यू प्राइस से पेटीएम 60 फीसदी नीचे आ चुका है. तो मार्केट कैपिटाईजेशन 1,39,000 करोड़ रुपये से घटकर 55,121 करोड़ रुपये पर आ चुका है.

Nykaa की चमक पड़ी फीकी
Nykaa का मार्केट कैप लिस्टिंग के दिन 1,04,360.85 करोड़ रुपये था जो अब करीब 36 हजार करोड़ रुपये घटकर 68.607 करोड़ रुपये रह गया है. Nykaa ने 1125 रुपये प्रति शेयर के रेट पर आईपीओ जारी किया था. जिसका भाव 2573 रुपये तक गया था. लेकिन ऊपरी स्तरों से नायिका में जोरदार गिरावट आई है और अब ये 1447.80 रुपये के रेट पर ट्रेड कर रहा है. अपने हाई से नायिका का शेयर 44 फीसदी के करीब नीचे आ चुका है.

जोमैटो भी फिसल चुका है आईपीओ प्राइस के नीचे
फूड डिलिवरी कंपनी जोमैटो केशेयर में निवेश करने वाले निवेशकों को जबरदस्त नुकसान हुआ है. 76 रुपये के इश्यू प्राइस के बाद कंपनी के शेयर ने 169 रुपये के हाई को छूआ था लेकिन अब ये 89 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. तीन दिन पहले ये अपने इश्यू प्राइस से नीचे फिसल गया था. 23 जुलाई को लिस्टिंग के दिन जोमैटो का मार्केट कैप 1 लाख करोड़ रुपये था जो अब केवल 70,000 करोड़ रुपये रह गया है.

पॉलिसीबाजार ने किया निराश
पॉलिसी बाजार का इश्यू प्राइस 980 रुपये था जो अब 763 रुपये पर ट्रेड कर रहा है यानि 22 फीसदी नीचे. पॉलिसीबाजार ने निवेशकों को झटका दिया है. यह शेयर पिछले साल 15 नवंबर को लिस्ट हुआ था और तब इसका मार्केट कैप 54,070.33 करोड़ रुपये था. अब यह घटकर 34,312 करोड़ रुपये रह गया है.

आईपीओ बाजार को झटका
इसके अलावा आदित्य बिरला सनलाईफ, ग्लेनमार्क लाईफ, Nuvoco और श्रीराम प्रॉपर्टीज जैसी कंपनियां हैं जो अपने इश्यू प्राइस से नीचे ट्रेड कर रही है. बहरहाल 2021 में आईपीओ लाने वाली कंपनियों की पिटाई से निवेशक जरुर चिंतित हो गए होंगे साथ में उन कंपनियों के प्रोमोटर्स भी जो आईपीओ लाने की योजना बना रही थी. हीं एलआईसी समेत कई कंपनियां आईपीओ लाने की प्लानिंग में है. इससे आईपीओ मार्केट के सेंटीमेंट को जरुर झटका लगा है.

दिग्गज कंपनियां लेकर आएगी आईपीओ
गो एयरलाइंस 3,600 करोड़ रुपये, MobiKwik 1,900 करोड़ रुपये, एसबीआई म्यूचुअल फंड 7500 करोड़ रुपये, Ola 7,300 करोड़ रुपये, OYO 8430 करोड़ रुपये, Pharmeasy 6250 करोड़ रुपये, एनएसई 10,000 करोड़ रुपये, Ixigo 1600 करोड़ रुपये, बजाज एनर्जी 5450 करोड़ रुपये के आईपीओ बाजार में 2022 में आयेंगे. इनके अलावा Reliance Jio, Snapdeal, FabIndia, HomeLane, Biba Apparels, Bharat FIH, VLCC Health Care, Delhivery, Wellness Forever, MobiKwik भी अपना आईपीओ लेकर आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें

Indian Railways: बिहार के लोगों को रेलवे दे सकती है सौगात, इन रुट्स में चलाई जा सकती है दो नई राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनें

Gems & Jewellery Export: अप्रैल-जनवरी के दौरान जेम्स और ज्वेलरी एक्सपोर्ट 6.5 फीसदी बढ़ा, 32.37 अरब डॉलर पर पहुंचा



Source link ABP Hindi