10 मार्च से शुरू होगा डिफेंस एक्सपो 2022, इस वजह से एक दिन बाद होगा उद्घाटन

नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव (Assembly elections 2022) के नतीजों की तारीख को देखते हुए रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) ने डिफेंस एक्सपो (Defense Expo) के उदघाटन की तारीख को एक दिन आगे बढ़ा दिया है. गुजरात की राजधानी गांधीनगर में होने जा रहे डिफेंस एक्सपो की शुरूआत तो 10 मार्च से हो जाएगी, लेकिन उद्घाटन 11 मार्च को होगा. इस साल डिफेंस एक्सपो में 50 से ज्यादा देशों के रक्षा मंत्री और सैन्य प्रमुख हिस्सा ले रहे हैं और देश-विदेश की करीब 1000 कंपनियों के शिरकत करने की संभावना है.

रक्षा मंत्रालय के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक, अगले महीने से शुरू होने जा रहे डिफेंस एक्सपो (10-13 मार्च) के उदघाटन समारोह में में देश के सर्वोच्च राजनैतिक नेतृत्व के शिरकत करने की पूरी संभावना है. लेकिन 10 मार्च को पांच राज्यों की विधानसभा चुनावों के नतीजों की घोषणा भी होगी. ऐसे में रक्षा प्रदर्शनी तो 10 मार्च से ही शुरू हो जाएगी, लेकिन उदघाटन समारोह को एक दिन आगे बढ़ाकर 11 मार्च कर दिया गया है.

अब 55 देशों ने भाग लेने की हामी भरी
रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, अब तक कुल 55 देशों ने देश की सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी, डिफेंस एक्सपो के 12वें संस्करण में हिस्सा लेने की हामी भर दी है. आने वाले दिनों में ये संख्या और अधिक बढ़ सकती है. अफ्रीका के ही करीब 20 देश प्रदर्शनी में हिस्सा ले रहे हैं. इसके अलावा हथियार बनाने वाले दुनिया की सभी नामचीन कंपनियां भी हिस्सा ले रही हैं. अभी तक कुल 900 कंपनियां ने डिफेंस एक्सपो में हिस्सा लेने के लिए रजिस्ट्रेशन करा लिया है. इनमें से करीब 100 कंपनियां विदेशी हैं. आने वाले दिनों में ये संख्या 1000 के पार हो सकती है.

विदेशी मेहमानों के लिए क्वारंटीन के होने की शर्त खत्म
रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, डिफेंस एक्सपो में हिस्सा लेने वाले विदेशी मेहमानों के लिए क्वारंटीन के होने की शर्त को खत्म कर दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक, देश में कोरोना का प्रकोप काफी कम हो गया है. ऐसे में 10 मार्च तक कोविड प्रोटोकॉल में काफी हद तक छूट मिल सकती है. ऐसे में कोविड महामारी के बाद गांधीनगर में होने जा रहा डिफेंस एक्सपो पहला अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम माना जा सकता है. दो साल में एक बार होने वाली एशिया की इस सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी में अमेरिका का पैवेलियन सबसे बड़ा बताया जा रहा है. स्वदेशी कंपनियों में अडानी और टाटा का सबसे बड़ा पैवेलियन देखने को मिल सकता है.

डिफेंस एक्सपो की थीम है ‘पाथ टू प्राइड’
रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक, इस साल के डिफेंस एक्सपो की थीम है ‘पाथ टू प्राइड’, जो देश के आजादी के अमृत महोत्सव के साथ साथ रक्षा उद्योग की क्षमताओं को ध्यान में रखकर रखा गया है. इस साल डिफेंस एक्सपो करीब1 लाख स्क्वायर मीटर के दायर में फैला होगा. पिछला डिफेंस एक्सपो वर्ष 2020 में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुआ था, जो करीब 76 हजार वर्ग मीटर के दायरे में फैला हुआ था.

इस साल डिफेंस एक्सपो में आम लोगों के लिए एक हजार ड्रोन का एक खास शो भी होने जा रहा है. ये ड्रोन शो आईआईटी-दिल्ली का बोटलैब स्टार्ट-अप करने जा रहा है. बोटलैब ने ही इस साल बीटिंग रिट्रीट समारोह में एक हजार ड्रोन का शो करने के दौरान वाहवाही लूटी थी. इसके अलावा साबरमती नदी में भारतीय नौसेना मेरीटाइम पावर का नमूना पेश करेगी.

यह भी पढ़ें:

NIA Raid: जम्मू-कश्मीर में तीन अलग-अलग जगहों पर NIA की छापेमारी, बरामद हुईं ये चीजें

Ukraine Russia Crisis: यूक्रेन संकट को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने तैयार किया कंट्रोल रूम, जारी हुए हेल्पलाइन नंबर

Source link ABP Hindi