सोए भाग्य को जगाने के लिए रविवार के दिन कर लें ये उपाय, किस्मत बदलते नहीं लगेगी देर

Ravivar Remedies: सनातन धर्म में रविवार का दिन सूर्य देव (Surya Dev) को समर्पित है. सूर्य देव को ग्रहों का राजा कहा जाता है. वहीं, सूर्य देव एक ऐसे देवता हैं जो प्रत्यक्ष रूप से धरती पर भक्तों को दर्शन देते हैं. कुंडली में सूर्य देव (Surya Dev In Kundali) की स्थिति मजबूत होने पर व्यक्ति को धन, यश, कीर्ति, मान-सम्मान, करियर और स्वस्थ्य सेहत की प्राप्ति होती है. वहीं, अगर व्यक्ति का सूर्य कमजोर (Week Surya) हो तो भाग्य रूठ जाता है. ऐसे में सूर्य देव की उपासना से सोए हुए भाग्य को फिर से जगाया जा सकता है. अगर आप नियमित रूप से सूर्य देव की पूजा नहीं कर पाते, तो रविवार के दिन सूर्य देव की पूजा अवश्य करें.

धार्मिक मान्यता है कि पूरे हफ्ते सूर्य देव की उपासना से जो फल मिलता है, उसे कई गुणा ज्यादा फल सिर्फ रविवार की पूजा से मिलता है. इससे कुंडली में सूर्य देव की स्थिति मजबूत होगी और सभी परेशानियों से निजात मिलेगी.

रविवार के उपाय (Sunday Remedies)

  • रविवार के दिन सूर्योदय से पहले उठें, जल्दी स्नान करने के बाद सूर्य देव को अर्घ्य दें. जल अर्पित करते समय ध्यान रखें कि तांबे के कलश का इस्तेमाल करें. इसमें रोली, अक्षत, लाल पुष्प और गुड़ डालकर सूर्य देव को अर्पित करें. मान्यता है कि सूर्य देव को अर्घ्य देने से सूर्य देव की कृपा प्राप्त होती है.
  • अर्घ्य देते समय कोई गहरा बर्तन पैरों के आगे रख लें और उसमें जल का अर्घ्य दें. ताकि पानी की छींटे पैरों पर न पड़ें.
  • रविवार के दिन नियमित रूप से आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ अवश्य करें. इससे सूर्य देव प्रसन्न होकर भक्तों के सभी मनोरथ पूर्ण करते हैं. धार्मिक ग्रंथों में ऐसा उल्लेख मिलता है कि श्री राम ने भी रावण का वझ करने से पहले आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ किया था. ये पाठ करने से कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है.
  • मान्यता है कि रविवार के दिन व्रत रखने से सूर्य से जुड़ी कई परेशानियां दूर हो जाती हैं. इस दौरान व्रत में नमक से परहेज करें. वहीं, इस दिन तांबे का बर्तन और गेंहू का दान आर्थिक स्थिति को मजबूत करता है.

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Dwijapriya Chaturthi 2022: आज द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी पर जानें चंद्रोदय समय, करें गणेश जी के इस स्वरूप की पूजा

Surya Dev Puja Tips: रविवार को अगर कर लिया इन चीजों का सेवन तो नाराज हो जाएंगे सूर्य देव, आप पर पड़ेगा नकारात्मक प्रभाव

Source link ABP Hindi