साढ़े 600 करोड़ रुपये की गोल्ड स्मगलिंग मामले में ED ने दाखिल की सप्लीमेंट्री चार्जशीट

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने साढ़े छह सौ करोड़ रुपए की गोल्ड स्मगलिंग के मामले में संजय अग्रवाल नामक व्यक्ति के खिलाफ पूरक आरोप पत्र कोर्ट के सामने पेश किया है. आरोप है कि घरेलू निर्यात के लिए आए 2717 किलोग्राम सोने को संजय अग्रवाल और उसके सहयोगियों ने आपराधिक साजिश कर अवैध तरीके से मनी लॉन्ड्रिंग (money laundering) की.

प्रवर्तन निदेशालय के एक आला अधिकारी ने बताया कि यह मामला डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस द्वारा दर्ज किए गए मुकदमे के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत दर्ज कर जांच शुरू की गई थी. इस मामले में आरोप था कि घरेलू उपयोग के लिए जो सोना ड्यूटी फ्री होकर एमएमटीसी (mmtc) कंपनी समेत कुछ अन्य कंपनियों के पास आता था. उस सोने को आपराधिक साजिश के जरिए संजय अग्रवाल और उसकी सहयोगियों ने तस्करी के लिए डाइवर्ट किया.

यह भी आरोप है कि उसे आने वाली रकम को मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए इधर से उधर भेजा गया. यह भी आरोप है कि इन पैसों से अनेक संपत्तिया खरीदी गई. प्रवर्तन निदेशालय ने इसके पहले संजय अग्रवाल के सहयोगी लव कुमार को गिरफ्तार किया था. लव कुमार से हुई पूछताछ के आधार पर उसके खिलाफ कोर्ट के सामने पहला आरोप पत्र दायर किया गया था संजय अग्रवाल तब से फरार चल रहा था .कोर्ट ने संजय अग्रवाल के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किए थे इन वारंट के जारी होने के 6 महीने बाद एक सूचना के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय ने पिछले साल संजय अग्रवाल को मुंबई की अंबे वैली सिटी के पास से गिरफ्तार किया था.

प्रवर्तन निदेशालय का दावा है कि इस मामले की जांच के दौरान अब तक 54 किलो गोल्ड के अलावा तीन अचल संपत्तियां भी जब्त की जा चुकी हैं. जिनकी कुल कीमत 25 करोड़ रुपए से ज्यादा बताई गई है. इसके अलावा कुछ बैंक खातों को भी सील किया गया है जिनमें 56 लाख रुपए की नगदी बताई जाती है मामले की जांच जारी है.

यह भी पढ़ें:

1000 करोड़ का ठग: लालच देकर लोगों को लगाता था ऐसे चूना, अब ED ने किया गिरफ्तार

Gold Price: सोना खरीदने से पहले चेक कर लें लेटेस्ट रेट्स, चांदी आज हो गई महंगी

Source link ABP Hindi