रूस-यूक्रेन में बढ़ते तनाव पर UNSC में भारत ने कहा- शांतिपूर्ण और रचनात्मक कूटनीति की जरूरत

Russia-Ukraine Crisis: रूस-यूक्रेन में बढ़ते तनाव के बीच भारत ने गुरुवार को कहा कि इस समय ‘शांतिपूर्ण और रचनात्मक कूटनीति’ की जरूरत है. वह इस मामले में सभी संबंधित पक्षों के संपर्क में है. साथ ही भारत ने कहा कि यूक्रेन में 20,000 से अधिक भारतीय नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना उसकी सर्वोच्च प्राथमिकता है.

रूस की अध्यक्षता में यूक्रेन की स्थिति पर हुई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की एक महत्वपूर्ण बैठक में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति (TS Tirumurti) ने कहा कि नई दिल्ली की रुचि एक ऐसा समाधान खोजने में है, जिसके जरिये तनाव में तत्काल कमी लाई जा सके. भारत सभी संबंधित पक्षों के संपर्क में है. हमारा विचार है कि इस मुद्दे को केवल कूटनीतिक बातचीत से ही सुलझाया जा सकता है.

उन्होंने कहा, ‘भारत की रुचि एक ऐसा समाधान खोजने में है, जो सभी देशों के वैध सुरक्षा हितों को ध्यान में रखते हुए तनाव को तत्काल कम कर सके और इसका उद्देश्य क्षेत्र और उसके बाहर दीर्घकालिक शांति और स्थिरता हासिल करना हो.’

बाइडेन का मानना है, रूस अगले कुछ दिनों में यूक्रेन पर आक्रमण करेगा
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) ने गुरुवार को कहा कि उनका मानना है कि रूस अगले कई दिनों में यूक्रेन पर आक्रमण करेगा, यह देखते हुए कि रूस ने सीमा पर और सैनिकों को जोड़ा है. बाइडेन ने कहा, “रूस आक्रमण करेगा, मेरी समझ में यह अगले कुछ दिनों के भीतर होगा.” रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि रूसी आक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, “चूंकि उन्होंने अपने किसी भी सैनिक को बाहर नहीं किया है, उन्होंने और अधिक सैनिकों को स्थानांतरित कर दिया है नंबर 1 नंबर 2 में, हमारे पास यह मानने का कारण है कि वे अंदर जाने का बहाना बनाने के लिए एक झूठे झंडे के संचालन में लगे हुए हैं. हमारे पास हर संकेत यह है कि वे यूक्रेन में जाने, यूक्रेन पर हमला करने के लिए तैयार हैं.”

ये भी पढ़ें-
Ukraine Warns Russia: यूक्रेन ने रूस को दी चेतावनी, कहा- ‘राजनयिक वार्ता के रास्ते पर चलो या…’

Elon Musk: विवादों में घिरे एलन मस्क, हिटलर से कर दी कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की तुलना

Source link ABP Hindi