रूसी सैनिकों की वापसी पर अमेरिका का बड़ा बयान, कहा- ‘वास्तविक’ खतरा बना हुआ है

Ukraine Crisis: अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन (Antony Blinken) ने कहा है कि यूक्रेन की सीमा से अमेरिका रूसी सेना की ‘कोई सार्थक वापसी’ नहीं देखता है.’ उन्होंने कहा कि ‘वास्तविक’ खतरा बना हुआ है. ब्लिंकन का यह बयान ऐसे समय में आया है जब रूस ने यूक्रेनी सीमा के करीब जमा और सैनिकों को हटाने की बात कही है.

इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि यूक्रेन पर रूस के आक्रमण की आशंका अब भी बनी हुई है और अमेरिका हमले का ‘‘निर्णायक’’ जवाब देने के लिए तैयार है. उन्होंने मॉस्को से युद्ध न छेड़ने का अनुरोध किया.

बाइडन ने मंगलवार को कहा कि जो भी होता है, अमेरिका उसके लिए तैयार है. उन्होंने कहा, ‘‘हम यूरोप में स्थिरता और सुरक्षा में सुधार लाने के लिए रूस तथा अपने सहयोगियों के साथ कूटनीतिक तरीके से बातचीत करने के लिए तैयार हैं. यूक्रेन पर रूस द्वारा हमला करने की आशंका अब भी बनी हुई है और हम हमला करने पर निर्णायक प्रतिक्रिया देने के लिए तैयार हैं.’’

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘रूस के रक्षा मंत्रालय ने आज कहा कि यूक्रेन के समीप कुछ सैन्य ईकाइयां अपनी तैनाती छोड़ रही हैं. यह अच्छा होगा लेकिन हमने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की है. हमारे विश्लेषकों ने संकेत दिया है कि वे अब भी काफी संख्या में तैनात हैं.’’

रूस और सैनिकों को बुला रहा वापस
बता दें रूस ने बुधवार को कहा कि वह और अधिक सैनिकों तथा हथियारों को सैन्य अड्डों पर वापस ला रहा है. यूक्रेन पर उसके हमला करने का अंदेशा कम करने के प्रति लक्षित यह एक और संकेत प्रतीत हो रहा है.

बुधवार को, रूस के रक्षा मंत्रालय ने एक वीडियो जारी किया, जिसमें यह देखा जा सकता है कि बख्तरबंद वाहनों से लदी हुई एक मालगाड़ी क्रीमिया, काला सागर प्रायद्वीप से दूर एक पुल को पार कर रही है. रूस ने इस प्रायद्वीप को 2014 में अपने भू-भाग में मिला लिया था.

Source link ABP Hindi