राहुल गांधी के आरोपों का अरविंद केजरीवाल ने दिया जवाब, बताया कितने महीने में खत्म होगी नशाखोरी

पंजाब विधानसभा चुनावों के लिए 20 फरवरी को वोटिंग होगी. तमाम सर्वे के मुताबिक इस बार आम आदमी पार्टी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बन सकती है. पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने चुनाव से ठीक पहले एबीपी न्यूज से खास बातचीत की. जिसमें उन्होंने कहा कि, इस बार पंजाब में उन्होंने पिछली कई गलतियों को सुधारा. साथ ही उन्होंने विपक्षी दलों के उन आरोपों का भी जवाब दिया, जिसमें AAP और अरविंद केजरीवाल के खालिस्तान और ऐसे संगठनों से रिश्ते की बात कही जा रही है.

अगर मैं गलत हूं तो जेल भेज दो – केजरीवाल
राहुल गांधी के आम आदमी पार्टी नेताओं पर आतंकियों के साथ रिश्ते रखने के आरोप पर केजरीवाल ने कहा कि, वो लोग यही कर सकते हैं. इनके पास पिछले पांच साल में काम गिनाने को एक काम नहीं है. सिर्फ गालियों का सहारा ले रहे हैं. मैं गालियों का जवाब गालियों से नहीं देता. अगर मेरा संबंध आतंकियों से है तो मुझे जेल भेज दो. अगर मैं आतंकवादी हूं तो मुझे जेल क्यों नहीं भेजा? जांच तो कराओ, जेल तो भेजो. इन्होंने बेअदबी करने वाले लोगों को जेल नहीं भेजा, इनकी उन लोगों के साथ क्या सेटिंग है?

सुरक्षा के मामले पर दिया जवाब
अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर कहा कि, पीएम की सुरक्षा का मतलब राष्ट्र की सुरक्षा है. इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. दिल्ली में केंद्र सरकार हमें परेशान करती है. लेकिन जब जनता और राष्ट्र की बात आती है तो हमने केंद्र के साथ मिलकर काम किया है. कोरोना के दौरान हमने कई बार केंद्र का धन्यवाद किया. मैं पंजाब के लोगों को आश्वासन देना चाहता हूं कि पंजाब के 3 करोड़ लोगों की सुरक्षा हमारे लिए सबसे ऊपर है. हमें अगर केंद्र के सामने झुकना पड़ा तो हम झुकेंगे. सुरक्षा की बात पर हम केंद्र से कंधा से कंधा मिलाकर चलेंगे. उस पार से टिफिन बम आते हैं, आतंकी आते हैं… इसमें किसी ना किसी की मिलीभगत होती है. इसीलिए इमानदार सरकार होना जरूरी है. हम बॉर्डर प्रदेश को चलाने के लिए सबसे ज्यादा सक्षम हैं.

ये भी पढ़ें – Punjab Election 2022: पंजाब में कांग्रेस के सामने त्रिकोणीय लड़ाई का चक्रव्यूह, कितनी बड़ी चुनौती है AAP?

6 महीने में खत्म होगा नशे का नेटवर्क

इसके अलावा पीएम मोदी के आरोपों पर अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि, ”पिछले कुछ दिनों से सभी दल आप को निशाना बना रही है. ये लोग पंजाब आकर लगातार मुझे और भगवंत मान को गालियां दे रहे हैं. उन्हें पता है कि अगर आम आदमी पार्टी आ गई तो उनका पूरा सिस्टम खत्म हो जाएगा. कांग्रेस, बीजेपी और अकाली दल का भ्रष्ट सिस्टम है. पंजाब में इस पूरे सिस्टम को आम आदमी पार्टी उखाड़ फेंकेगी.” केजरीवाल ने कहा कि, नशाखोरी का पूरा नेटवर्क खत्म होने में वक्त लगेगा, लेकिन एक महीने के भीतर हम उसके खिलाफ कार्रवाई करना शुरू कर देंगे. मुझे लगता है कि इस नेटवर्क को तोड़ने में 6 महीने तक लग सकते हैं.

चन्नी दलित चेहरा हैं, ऐसे में क्या वो भगवंत मान पर भारी पड़ सकते हैं? इस सवाल पर केजरीवाल ने कहा कि, लोगों से जब हमने बात की तो उन्होंने कहा कि, हमारे लिए चन्नी ने कुछ नहीं किया. सिर्फ अपने रिश्तेदारों का भला किया. एससी समुदाय के लोग उनसे नाराज हैं. आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में दलित और गरीब के बच्चों को अच्छी शिक्षा देनी शुरू की है. यही पंजाब में भी किया जाएगा. लोगों को हम पर भरोसा है, क्योंकि हमने जो दिल्ली में कहा वो किया है.

ये भी पढ़ें – Punjab Election 2022: सीएम चन्नी के विवादास्पद बयान से क्या कांग्रेस को मिलेगा कोई फायदा?

Source link ABP Hindi