यूपी की करहल सीट को लेकर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का बड़ा दावा, मुलायम सिंह का भी जिक्र

Karhal Seat UP Election: उत्तर प्रदेश में चुनावी माहौल गरम है, ऐसे में नेता एक दूसरे पर जमकर हमलावर भी हैं. वहीं अगर यूपी की हॉट सीटों की बात करें तो इस बार तमाम बड़े दिग्गज चुनावी मैदान में उतरे हैं. यूपी के करहल में भी मुकाबला इस बार काफी दिलचस्प है. इस सीट से सपा चीफ अखिलेश यादव और केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल के बीच सीधी लड़ाई है. इसीलिए करहल में मुलायम सिंह भी अखिलेश यादव के साथ प्रचार करने पहुंच गए. जिस पर अब बीजेपी की तरफ से तंज कसा गया है.

करहल सीट को लेकर डिप्टी सीएम का दावा
बीजेपी नेता और यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने एक ट्वीट किया. जिसमें उन्होंने दावा किया कि करहल सीट से अखिलेश यादव चुनाव हार रहे हैं. साथ ही मुलायम सिंह यादव के भाषण का भी उन्होंने जिक्र किया. डिप्टी सीएम ने लिखा, “करहल से भाजपा प्रत्याशी प्रोफ़ेसर एस पी सिंह बघेल जीत और श्री अखिलेश यादव चुनाव हार रहे हैं, आज श्री मुलायम सिंह यादव जी को जबरन करहल भेजा, उन्होंने अखिलेश जी का नाम नहीं लिया, शायद मुलायम सिंह जी और चाचा श्री शिवपाल सिंह भी चाहते हैं साइकिल पंचर हो और अखिलेश यादव जी चुनाव हारें!”

ये भी पढ़ें – UP Election 2022: हम साथ-साथ हैं! किला बचाने निकले Akhilesh, पिता ही नहीं चाचा Shivpal को भी लिया साथ

मुलायम सिंह ने लिया था अखिलेश यादव का नाम
केशव प्रसाद मौर्य ने अपने ट्वीट में कहा कि, मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव का नाम तक नहीं लिया. इसी बात को लेकर उन्होंने दावा किया कि खुद मुलायम चाहते हैं कि अखिलेश चुनाव हार जाएं… लेकिन बता दें कि मुलायम सिंह यादव ने करहल में रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव का नाम लिया था. मुलायम सिंह ने अपने संबोधन में कहा था कि, समाजवादी पार्टी जो कहती है वो करती है. इसी भावना का आदर करते हुए अखिलेश को भारी बहुमत से जिताना. समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी तो नौजवानों को रोजगार, नौकरी का इंतजाम किया जाएगा. क्योंकि इतनी बड़ी तादाद में नौजवान हैं इनको रोजगार नहीं व्यापार नहीं कैसे इनका परिवार चलेगा.

करहल में विशाल रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि, बीजेपी सरकार ने सबसे ज्यादा पिछड़ों दलितों को धोखा दिया है. बीजेपी ने जातियों में झगड़ा लगाने का काम किया. यह चुनाव भाईचारे का चुनाव है. यह चुनाव किसानों के मान सम्मान को पूरा करने का है. फौज में पुलिस में भर्ती कराने का चुनाव है. अखिलेश ने कहा कि, जो कानून का पालन नहीं करना चाहते, जो नियमों को नहीं मानना चाहते, हम उनसे कहेंगे कि समाजवादी पार्टी को वोट मत देना.

ये भी पढ़ें – UP Election: ‘मैंने प्रदेश के सभी बुलडोजर को मरम्मत के लिए बोला है’ CM Yogi ने ऐसा क्यों कहा

Source link ABP Hindi