यूक्रेन से तनाव के बीच रूस ने दिखाई ताकत, ड्रिल में बैलिस्टिक क्रूज मिसाइल का किया परीक्षण

Ukraine-Russia Tension: यूक्रेन के साथ तनाव के बीच रूस ने अभ्यास के दौरान बैलिस्टिक क्रूज मिसाइल लॉन्च की. एएफपी ने क्रेमलिन के हवाले से यह जानकारी दी है. रूसी समाचार एजेंसियों आरआईए नोवोस्ती और इंटरफैक्स ने क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव का हवाला देते हुए कहा कि अभ्यास शुरू हो गया है. पुतिन और बेलारूसी नेता अलेक्जेंडर लुकाशेंको ने क्रेमलिन में कंट्रोल रूम से ड्रिल को देख रहे हैं. ये हायपरसॉनिक बैलिस्टिक क्रूज मिसाइल परमाणु क्षमता से लैस थीं. क्रेमलिन ने अपने बयान में कहा, सभी मिसाइलों ने अपने टारगेट्स को भेद दिया.’ इस ड्रिल में टीयू-95 बॉम्बर्स और सबमरीन्स को भी शामिल किया गया था.

चीफ ऑफ जनरल स्टाफ के प्रमुख वालेरी गेरासिमोव ने कहा, “इस ड्रिल का मकसद दुश्मन के खिलाफ हमारी परफॉर्मेंस को परफेक्ट रखना है.” गेरासिमोव ने कहा, ये रणनीतिक ड्रिल्स दो चरणों में शामिल हैं.

दूसरी ओर, पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादी नेताओं ने क्षेत्र में हिंसा बढ़ने और इसकी आड़ में रूस के आक्रमण करने को लेकर पश्चिमी देशों की आशंका के बीच शनिवार को पूर्ण सैन्य लामबंदी का आदेश दिया. दोनेत्स्क क्षेत्र में रूस समर्थक अलगाववादी सरकार के प्रमुख डेनिस पुशिलिन ने शनिवार को एक बयान जारी कर पूर्ण सैन्य लामबंदी की घोषणा की और रिजर्व बल के सदस्यों से सैन्य भर्ती कार्यालय में आने का अनुरोध किया.

लुहांस्क में एक अन्य अलगाववादी नेता लियोनिद पेसेचनिक ने भी ऐसी ही घोषणा की है. पुशिलिन ने यूक्रेन की सेना से ‘‘आक्रमण के आसन्न खतरे’’ का हवाला दिया है. हालांकि, यूक्रेन के अधिकारियों ने इन आरोपो से इनकार कर दिया है.

अलगाववादी और यूक्रेन के सैनिक तकरीबन आठ वर्षों से लड़ रहे हैं, लेकिन दोनों पक्षों को अलग करने वाली सीमा पर हिंसा हाल के दिनों में बढ़ गयी है, जिसमें दोनेत्स्क में एक कार में बम विस्फोट और एक मानवीय राहत सामग्री ले जा रहे काफिले पर बमबारी भी शामिल है.

ऐसा अनुमान है कि रूस ने यूक्रेन के साथ लगती सीमा पर 1,50,000 से अधिक सैनिकों को तैनात किया है. यूक्रेन की सेना ने कहा कि दोनेत्स्क क्षेत्र के सरकार के कब्जे वाले हिस्से में शनिवार को गोलाबारी में एक सैनिक की मौत हो गई और अलगाववादी बल जवाबी कार्रवाई के प्रयास में आवासीय क्षेत्रों में तोपखाने लगा रहे हैं.

दोनेत्स्क और लुहांस्क में अलगाववादी प्राधिकारियों ने शुक्रवार को महिलाओं, बच्चों तथा बुजुर्गों को पड़ोसी रूस भेजने की घोषणा की थी. इन प्रयासों के तुरंत बाद विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों में कई विस्फोट हुए थे.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि उन्हें यकीन है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन और उसकी राजधानी कीव पर आक्रमण करने का फैसला कर लिया है. इस बीच, रूस के राष्ट्रपति कार्यालय ‘क्रेमलिन’ ने घोषणा की है कि वह शनिवार को बड़े पैमाने पर परमाणु अभ्यास करेगा और पुतिन ने पश्चिमी देशों से आसन्न खतरों के मद्देनजर रूस के राष्ट्रीय हितों की रक्षा करने का वचन दिया है. बाइडन ने फिर से चेताया है कि यूक्रेन पर आक्रमण करने की स्थिति में रूस के खिलाफ और कड़े आर्थिक और राजनयिक प्रतिबंध लगाए जाएंगे.

एक अमेरिकी रक्षा अधिकारी ने कहा कि यूक्रेन सीमा के आसपास तैनात सुरक्षा बलों के अनुमानित तौर पर 40 से 50 प्रतिशत जवान सीमा के पास हमले की स्थिति में तैनात हैं. रूस और अमेरिका के बीच वार्ता के भी प्रयास हो रहे हैं. अमेरिकी और रूसी रक्षा प्रमुखों ने शुक्रवार को बात की. विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव अगले सप्ताह मिलने पर सहमत हुए हैं. फिलहाल, सबसे ज्यादा खतरा पूर्वी यूक्रेन में है, जहां अलगाववादी संघर्ष 2014 में शुरू हुआ और इसमें 14,000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं.

ये भी पढ़ें- Ukraine Crisis: साइबर हमले से परमाणु हमले तक, US ने Russia पर लगाए ये आरोप, बाइडन ने पुतिन को लेकर कही बड़ी बात

Ukraine Soldier Killed: रूस के बॉर्डर के नजदीक संघर्ष में यूक्रेन के सैनिक की मौत, जानिए क्या हैं वहां ताजा हालात


Source link ABP Hindi