यूक्रेन संकट: युद्ध का खतरा और हुआ कम, रूस की तरफ से आई यह अच्छी खबर

मॉस्को: रूस (Russia) ने बुधवार को कहा कि वह और अधिक सैनिकों और हथियारों को सैन्य अड्डों पर वापस ला रहा है. यूक्रेन (Ukraine) पर उसके हमला करने का अंदेशा कम करने के प्रति लक्षित यह एक और संकेत प्रतीत हो रहा है.

रूस ने यूक्रेन के पूर्व, उत्तर और दक्षिण में करीब 1,50,000 सैनिक जमा कर रखे हैं, जिसके चलते पश्चिमी देशों ने उसके हमला करने की कथित योजना को लेकर चिंता जताई. हालांकि, इन सैनिकों के बड़ी संख्या में लौटने के बारे में कोई संकेत नहीं हैं, लेकिन इस हफ्ते मास्को से मिले कुछ संकेतों से यह उम्मीद जगी है कि यूरोप में युद्ध टल सकता है.

रूसी रक्षा मंत्रालय ने जारी किया वीडियो
बुधवार को, रूस के रक्षा मंत्रालय ने एक वीडियो जारी किया, जिसमें यह देखा जा सकता है कि बख्तरबंद वाहनों से लदी हुई एक मालगाड़ी क्रीमिया, काला सागर प्रायद्वीप से दूर एक पुल को पार कर रही है. रूस ने इस प्रायद्वीप को 2014 में अपने भू-भाग में मिला लिया था.

बुधवार को, रूसी लड़ाकू विमानों ने बेलारूस के आसमान में प्रशिक्षण उड़ाने भरी, जो उत्तर की ओर से यूक्रेन के पड़ोस में है. वहीं, अर्द्ध-सैनिकों ने फायरिंग रेंज में गोलीबारी का अभ्यास किया. बेलारूस के विदेश मंत्री व्लादिमीर मकेई ने फिर से इसकी पुष्टि की है कि रूसी सैनिक रविवार तक अभ्यास पूरा कर देश से चले जाएंगे.

जर्मन समाचार पत्र वेल्त के द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या रूस बुधवार को हमला करने जा रहा, यूरोपीय संघ के लिए रूसी राजदूत व्लादिमीर चिझोव ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘‘यूरोप में युद्ध बुधवार को शायद ही शुरू होते हैं. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगले हफ्ते या उसके अगले हफ्ते या आने वाले महीने में आक्रमण नहीं होगा.’’

यह भी पढ़ें:

Ukraine Russia Crisis: यूक्रेन संकट को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने तैयार किया कंट्रोल रूम, जारी हुए हेल्पलाइन नंबर

Ukraine Russia Crisis: यूक्रेन संकट को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने तैयार किया कंट्रोल रूम, जारी हुए हेल्पलाइन नंबर

Source link ABP Hindi