यूक्रेन में पढ़ाई कर रहे स्टूडेंट्स के मां-बाप को सता रही चिंता, पीएम से लगाई मदद की गुहार

Russia-Ukraine Conflict: रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध की आशंका को लेकर इंदौर से यूक्रेन पढ़ाई करने गए छात्रों के परिजन चिंतित हैं. ऐसे ही एक छात्र प्रणय राव के पिता अखिलेश राव और मां मीना राव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है. इंदौर जिले के काफी स्टूडेंट्स यूक्रेन में पढ़ाई कर रहे हैं.

शासकीय कॉलेज में प्रोफेसर अखिलेश राव के 22 साल के बेटे प्रणय यूक्रेन की टेरनोपिल नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी में पिछले 5 साल से पढ़ाई कर रहे हैं. रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध की आशंकाओं को देखते हुए प्रणय के पिता अखिलेश और मां मीना ने चिंता जताते हुए स्थानीय सांसद शंकर लालवानी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से सभी छात्रों को वन्दे भारत मिशन की तरत भारत सुरक्षित लाने का आग्रह किया है.

बेटे की सुरक्षा को लेकर चिंता में माता-पिता

अखिलेश राव ने कहा, “उनके बेटे प्रणय से उनकी बात हुई है वो क्लास भी अटेंड करने जाता है. वहां के हालात प्रणय ने फिलहाल सामान्य बताए हैं लेकिन हमें टीवी पर आ रही खबरों से बेटे की चिंता हो रही है. हम चाहते हैं कि हमारा बेटा सुरक्षित रहे. वहां की भारतीय एम्बेसी भी छात्रों के संपर्क में है लेकिन फिर भी हमें चिंता है कि हमारा बेटा अगर अपनी मर्ज़ी से भारत आ जाएगा तो उसकी पढ़ाई का नुकसान होगा जबकि सरकार के दखल से अगर सभी स्टूडेंट्स भारत लाए जाएंगे तो उन्हें पढ़ाई में रिलेक्सेशन मिल पाएगा.”

युद्ध ना हो जाए इसका डर है- प्रणय की मां

भारत आने के लिए फ्लाइट की टिकिट का रेट 25 हज़ार था जो अब कई गुना बढ़ गया है इसके लिए भी सरकार को कुछ करना चाहिए. प्रणय की मां मीना राव ने कहा, “बेटे से बात हुई है उसने वहां फिलहाल हालात सामान्य बताए हैं लेकिन टीवी पर हालात सामान्य नहीं बताए जा रहे हैं. इसे देख हमें घबराहट और डर है कि कहीं युद्ध ना हो जाए. हम उसे बुलाना चाह रहे हैं लेकिन अगर वो यहां आ जाएगा तो उसकी पढ़ाई का नुकसान होगा क्योंकि उनकी क्लास ऑफ लाइन चल रही है. उसके साथ और भी बच्चे हैं भारत के उनका भी कहना है कि फिलहाल डरने की कोई बात नहीं है.

यह भी पढ़ें.

Deep Sidhu Death: जब हादसा हुआ तब क्या कर रही थी दीप सिद्धू की गर्लफ्रेंड? पुलिस से पूछताछ में सामने आई ये बात

Chhattisgarh: इस राज्य में अनोखी आदिवासी परंपरा, एक रात साथ में रहकर युवक-युवतियां चुनते हैं लाइफ पार्टनर, फिर होती है शादी

Source link ABP Hindi