मगज 13 साल की उम्र में शानदार बिजनेस आइडिया से इस लड़की ने जुटाया 50 लाख का फंड

Unique Idea in Shark Tank India : स्टार्टअप (Startup) बेस्ड रियलिटी शो शार्क टैंक इंडिया (Shark Tank India) ने पॉपुलैरिटी की कई ऊंचाइयां छू ली हैं. इस शो में कई ऐसे बिजनेसमैन (Businessman) आए जिन्होंने अपने आइडिया से न सिर्फ लोगों का बल्कि शार्क का भी दिल जीता, बल्कि अच्छा खासा फंड रेज भी किया. लेकिन इस शो के आखिरी हिस्सों में जाकर सबसे ज्यादा सुर्खियां 13 साल की एक लड़की ने बटोरीं. इस लड़की ने अपने बिजनेस आइडिया (Business Idea) से शार्क्स का दिल भी जीता और 50 लाख रुपये का फंड भी जुटा लिया. चलिए जानते हैं कि कौन है ये लड़की और ऐसा क्या है उसका आइडिया.

3 साल पहले शुरू किया काम

गुरुग्राम में रहने वाली 13 साल की अनुष्का जॉली (Anoushka Jolly) शार्क टैंक इंडिया में एक अलग आइडिया लेकर पहुंचीं थीं. उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने 3 साल पहले एक डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाया था. इसका नाम ‘एंटी बुलिंग स्क्वॉड (Anti Bullying Squad -ABS) रखा था. इस स्क्वॉड ने एजुकेशनल इंस्टिट्यूट्स, सामाजिक संगठनों और एक्सपर्ट की मदद से 100 से अधिक स्कूलों और यूनिवर्सिटी के हजारों स्टूडेंट्स को फायदा पहुंचाया है. उन्होंने इस कॉन्सेप्ट के लिए बनाए गए अपने ‘कवच’ ऐप का भी जिक्र किया. इसके बाद उनका आइडिया शो के जजों को पसंद आया और उन्हें 50 लाख रुपये की फंडिंग मिल गई.

क्या काम करेगा यह ऐप

अनुष्का ने अपने कवच ऐप (Kavach App) के बारे में बताया कि यह ऐप, बुलिंग यानी डराने-धमकाने से रोकने में दूसरे बच्चों या स्टूडेंट्स की मदद करेगा. अगर कोई इस तरह की हरकत करेगा तो यह ऐप बिना नाम बताए इसकी रिपोर्ट करेगा.

कहां से आया आइडिया

इस आइडिया के बारे में अनुष्का बताती हैं कि 5 साल पहले उनके स्कूल में एक फंक्शन था. इसमें उनकी कुछ सहपाठियों का कुछ स्टूडेंट्स ने मजाक (Bulling) उड़ाया था. इस घटना ने उनकी सोच पूरी तरह बदल दी. उन्होंने तभी से कुछ ऐसा बनाने की की सोची जिससे आगे किसी को इस तरह की दिक्कत न हो. उन्होंने एक ऐसा ऐप बनाया जहां बुल्लिंग की घटना का रिपोर्ट स्टूडेंट्स के साथ पैरेंट्स बिना अपना नाम बताए कर सकें.

ये भी पढ़ें

Mobile Deal On Amazon: सिर्फ 5 हजार रुपये में खरीद सकते हैं ये बेस्ट 5 स्मार्टफोन!

Facebook: मार्क जुकरबर्ग ने बताया अब इस नाम से जाने जाएंगे फेसबुक के कर्मचारी

Source link ABP Hindi