बीजेपी सरकार में मंत्री के इस्तीफे पर अड़े कांग्रेस के विधायक

Karnataka Assembly: कर्नाटक के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री के एस़ ईश्वरप्पा द्वारा राष्ट्र ध्वज के संबंध में दिए गए कथित बयान को लेकर उन्हें बर्खास्त करने की मांग कर रहे कांग्रेस विधायकों के हंगामे के बाद राज्य विधानसभा की कार्यवाही सोमवार सुबह तक के लिए स्थगित कर दी गई. जिसके बाद कांग्रेस विधायकों ने कहा कि जब तक सदन की बैठक नहीं होती तब तक वे सदन में धरना जारी रखेंगे.

दरअसल कांग्रेस द्वारा कर्नाटक के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री को बर्खास्त करने की मांग के चलते कल ही सदन की कार्यवाही में करीब दो घंटे का विलंब हुआ. सदन की कार्यवाही सुबह 10 बजे शुरू होनी थी, लेकिन प्रश्नकाल के शुरू होते ही कांग्रेस सदस्यों ने ईश्वरप्पा को बर्खास्त करने की मांग करते हुए नारेबाजी की.

दरअसल ईश्वरप्पा से पत्रकारों ने सवाल पूछा था कि क्या लाल किले पर कभी भगवा झंडा फहराया जा सकता है. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि आज नहीं, भविष्य में किसी दिन.” उनके इसी बयान के बाद कर्नाटक में बवाल मच गया. विधानसभा में कांग्रेस सदस्यों द्वारा इसका विरोध दोनों सदनों में देखा गया. जिस वजह से गुरुवार को कर्नाटक विधानसभा और विधानपरिषद में लगातार दूसरे दिन भी हंगामा जारी रहा.

ईश्वरप्पा को मंत्रीमंडल से बर्खास्त किये जाने के लिये शुरु किया अपना आंदोलन

इसके बाद कांग्रेस सदस्यों ने ईश्वरप्पा को मंत्रीमंडल से बर्खास्त किये जाने के लिये अपना आंदोलन शुरू कर दिया. गौरतलब है कि सदन की कार्यवाही दिनभर के लिये स्थगित होने के बाद भी कांग्रेस सदस्य वहीं रुके रहे. इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी और पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने बाद में विधान सभा परिसर में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया से मुलाकात कर बातचीत की.

ईश्वरप्पा ने इस्तीफा देने से किया इंकार

हालांकि ईश्वरप्पा ने कहा कि वह इस्तीफा नहीं देंगे. ईश्वरप्पा ने कहा कि उनके किसी भी कारण से इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं उठता और वह एक देशभक्त हैं जो आपातकाल के दौरान जेल गए थे. उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें विरोध करने दें, मैं नहीं हटूंगा.’’ उन्होंने कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के प्रमुख डी. के. शिवकुमार से इस्तीफा देने की मांग की और उन पर और उनकी पार्टी पर विरोध प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय ध्वज का ‘दुरुपयोग’ करने का आरोप लगाया.

कांग्रेस ने जारी रखा विरोध प्रदर्शन

अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी के बार-बार अनुरोध के बावजूद कांग्रेस सदस्यों की नारेबाजी के बीच प्रश्नकाल जारी रहा. प्रश्नकाल के बाद, अध्यक्ष ने विपक्ष के नेता सिद्धारमैया को राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने अपनी बात नहीं रखी और कांग्रेस विधायकों के साथ विरोध करना जारी रखा.

हंगामा जारी रहने पर अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही अपराह्र तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी. विधानसभा में अध्यक्ष ने बुधवार को कांग्रेस के उस स्थगन प्रस्ताव को खारिज कर दिया था जिसमें ईश्वरप्पा की बर्खास्तगी और उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की गई थी.

ये भी पढ़ें:

Pakistan News: इमरान खान ने नवाज शरीफ का जिक्र करते हुए क्यों कहा ये पाकिस्तान सरकार की बड़ी गलती थी? जानें

Russia-Ukraine conflict: यूक्रेन संकट पर भारत के रुख की रूस ने की तारीफ, कही ये बात

Source link ABP Hindi