बच्चों को पिलाने के लिए घरों में दूध तक नहीं, श्रीलंका में खाने-पीने के पड़े लाले

Sri Lanka Food Crisis: श्रीलंका अब तक के सबसे बुरे आर्थिक संकट से जूझ रहा है. खाने पीने का सामान इतना महंगा हो गया है कि लोग भूखे रहने को मजबूर हो गए हैं. सब्जी से लेकर फल फ्रूट के दाम लागातार आसमान छू रहे हैं. सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि जो सब्जी की कीमते पहले हुआ करती थी अब दोगुनी नहीं बल्कि 3 गुनी हो गई हैं. एबीपी न्यूज़ की टीम ने सब्जी विक्रेताओं से बात कर जाना कि असल में क्या हालात हैं. इस दौरान कई सब्जी, फल फ्रूट विक्रेताओं ने बताया कि हालात दिन पर दिन बदतर हो रहे हैं. लोग भूख से लड़ रहे हैं, जूझ रहे हैं. माओं के पास बच्चों को पिलाने के लिए घर में दूध तक नहीं है. उन्होंने बताया कि, लोगों को पास घर में खाने के लिए खाना नहीं होता जिसके बाद वो प्रदर्शन स्थल पर जाते हैं और वहां मिले खाने से अपना पेट भरते हैं.

फल की दुकान चलाने वाले चंदना के साथ बातचीत में उन्होंने बताया है कि आर्थिक संकट के चलते फिलहाल फलों की कीमत 3 गुनी हो गई है.

सेब- पहले 350- अब 1200
आम- पहले 350- अब 700 
संतरा- पहले 400- अब 800
पाइनएप्पल- पहले 200- अब 400
अंगूर- पहले 1200- अब 1800

सब्जी की कीमतें…

आलू- अब 340- 250 पहले
टमाटर- अब 850- 280 पहले
गाज़र- अब 440 – 220 पहले
शिमला मिर्च – अब 850- 650 पहले
गोभी- अब 850 – 650 पहले
बैगन- अब 480- 180 पहले

एक सब्जी विक्रेता ने टीम से बात करते हुए बताया कि, पहले अगर कोई व्यक्ति 1 किलो सामान लेता था तो अब आधा किलो ले रहा है. इतना ही नहीं हमारे पास भी सामान कम आ रहा है क्योंकि डीजल की कीमत बढ़ी हुई है. हालत यह है कि मुझे अपने कर्मचारियों को तनख्वाह देने के लिए भी पैसा नहीं है. पहले सब्जियों की होम डिलीवरी भी कर देते थे लेकिन जब से डीजल की कीमत बढ़ी है तब से होम डिलीवरी भी नहीं कर रहे. अगर हालात यही रहे तो अगले महीने क्या होगा हम कुछ कह भी नहीं सकते.

यह भी पढ़ें.

Delhi Fire: मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास इमारत में लगी भीषण आग पर पाया गया काबू, हादसे में 27 लोगों की मौत

Gyanvapi mosque survey: परिसर में आज सुबह 8 बजे से होगा सर्वे, चार घंटे तक होगी वीडियो और फोटोग्राफी

Source link ABP Hindi