फेक है दुबई एयरपोर्ट पर 3 नाइजीरियन की गिरफ्तारी का दावा करने वाली फोटो

Dubai Airport : दुबई (Dubai) एयरपोर्ट से जुड़ी एक खबर सोशल मीडिया और कुछ मीडिया वेबसाइट्स पर चल रही थी. इसमें कहा गया था कि हाल ही में सिक्योरिटी ऑफिसर्स ने शक होने पर तीन ‘महिलाओं’ को रोका. पुलिस ने जब उनके चेहरे से नकाब हटवाया तो हकीकत देखकर न सिर्फ पुलिसकर्मी बल्कि आसपास मौजूद लोग भी दंग रह गए. दरअसल, सिर से पैर तक खुद को ढक कर जा जा रहीं तीनों ‘महिलाएं’ महिला नहीं, बल्कि पुरुष थे, लेकिन अब इस खबर की हकीकत सामने आई है. दरअसल, ये फोटो किसी और घटना से जुड़ी है.

क्या किया गया था दावा

वायरल फोटो और खबर में कहा गया कि संयुक्त अरब अमिरात (UAE) के दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Dubai International Airport) पर पुलिस और इमिग्रेशन ने शक होने पर 3 ‘महिलाओं’ को रुकवाया. इन तीनों का गेटअप अरबी महिलाओं वाला था. ऊपर से लेकर नीचे तक तीनों ढकी हुईं थीं. पुलिस ने जब उनसे चेहरे से नकाब हटाने को कहा तो पहले उन्होंने मना किया. पुलिस की सख्ती पर जब नकाब हटा तो अंदर से तीन नाइजीरियन निकले. पूछताछ में पता चला कि तीनों पुरुष नाइजीरिया के ही हैं. वे अवैध तरीके से दुबई में घुसना चाह रहे थे. किसी भी तरह की पूछताछ से बचने और बेरोकटोक निकलने के लिए उन्होंने महिलाओं वाला गेटअप लिया था. उन्होंने चेहरे पर स्किन कलर का पेंट लगा रखा था और पूरे शरीर को ढक रखा था. ये तीनों ज्यादा पैसे कमाने के लिए दुबई जा रहे थे.

क्या है हकीकत

इस खबर के वायरल होने के बाद फैक्ट चेक करने वाली एक वेबसाइट ने इसकी पड़ताल की तो मामला कुछ और निकला. उस वेबसाइट के मुताबिक, यह फोटो पूरी तरह से फर्जी है. इसके साथ जो डिटेल दी जा रही है वो भी गलत है. यह दुबई एयरपोर्ट और दुबई पुलिस से जुड़ी फोटो नहीं है. बताया गया है कि कुछ दिन पहले एल्जिरिया पुलिस ने ह्यूमन ट्रैफिकिंग करने वाले गिरोह को पकड़ा था. ये लोग महिलाओं के भेष में पुलिस को चकमा देते थे. ये तीनों वही पकड़े गए बदमाश हैं.

ये भी पढ़ें

Omicron के मामलों में आ रही है कमी, लेकिन WHO ने सब-वेरिएंट BA.2 को लेकर दी चेतावनी

Pakistan: पत्रकार दोस्त ने इमरान खान सरकार के फैसले पर उठाया सवाल तो करा दी गिरफ्तारी

Source link ABP Hindi