क्या शिरोमणि अकाली और बीजेपी फिर आएंगे साथ? सुखबीर सिंह बादल ने दिया है जवाब

Punjab Election: पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) के मुखिया सुखबीर सिंह बादल ने विरोधी दलों को निशाने पर लिया है. सुखबीर बादल (Sukhbir Singh Badal) ने पंजाब के हर गांव में अपनी पार्टी की मौजूदगी और लोगों की आकांक्षाओं को किसी दूसरे से बेहतर समझ सकने का दावा किया. सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि मतदाता इस बार राज्य आधारित पार्टी को चुनेंगे न कि उनको जो दिल्ली से रिमोट संचालित हैं.

सुखबीर सिंह बादल ने बीएसपी को बीजेपी की तुलना में बहुत बेहतर गठबंधन की सहयोगी बताया है. सुखबीर सिंह बादल ने फिर से भाजपा के साथ आने की संभावना से इनकार किया. सुखबीर सिंह बादल ने कहा, ”अकाली दल पंजाब की सबसे पुरानी पार्टियों में से एक है और पंजाब की एकमात्र पंजाबी पार्टी है, जो किसानों की पार्टी है. पंजाब की मानसिकता को हमसे बेहतर कोई नहीं समझ सकता क्योंकि हम दिल्ली से रिमोट कंट्रोल से संचालित नहीं होते हैं.”

सुखबीर सिंह बादल ने अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी करते हुए पंजाबियों के लिए पंजाब की पैरवी की. सुखबीर सिंह बादल ने सरकारी और निजी क्षेत्रों में राज्य के युवाओं के लिए नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण का वादा किया है.

20 फरवरी को होगा मतदान

सुखबीर बादल ने कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला है. बादल ने कहा, ”लोगों ने आप और कांग्रेस तथा भाजपा के माध्यम से देखा है, ये पार्टियां दिल्ली द्वारा रिमोट से नियंत्रित हैं. जहां तक कांग्रेस का सवाल है तो वह हर गुजरते दिन के साथ सिमटते जा रही है.”

बता दें कि शिरोमणि अकाली दल 97 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जबकि बीएसपी की 20 सीटें आई हैं. पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 20 फरवरी को मतदान होने जा रहा है.

Punjab Election 2022: अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के कारोबारियों को साधा, इंस्पेक्टर राज खत्म करने का वादा किया

Source link ABP Hindi