कैसे क्लब हाउस से जुड़ने पर पूरे परिवार को हुई परेशानी, ABP News को शख्स ने सुनाई दास्तां

Clubhouse App Chat Case: क्लब हाउस एक ऐसा मामला जिसके चलते पूरे देश में बवाल मच गया है. हर बड़ी शख्शियत ने इसके पिछले के लोगों पर करवाई की मांग की जिसके बाद मुंबई और दिल्ली साइबर पुलिस ने मामले दर्ज किए और जांच करना शुरू कर दिया था. आज हम आपको एक ऐसे शख़्स की बात बताने वाले हैं जो कि उसी चैट ग्रुप का एक सदस्य था. (हम उसकी पहचान छुपा रहे हैं क्यूंकि वो पुलिस का इस मामले में गवाह है)

क्लब हाउस के सदस्य अतुल (बदला हुआ नाम) ने बताया की उसकी उम्र महज़ 19 साल है और फ़र्स्ट ईयर का विद्यार्थी है, एक दिन इंटरनेट पर वो सर्फ़िंग कर रहा था. तभी उसे इस ग्रुप के बारे में पता चला और वो इस ग्रुप में शामिल हो गया. उसे उम्मीद थी की इस ग्रुप में पढ़ाई को लेकर या उज्वल भविष्य से जुड़ी बातचीत होगी पर उसने पाया की क़रीब 1000 लोगों के इस ग्रुप में कोई भी कुछ भी बोल रहा है.

अतुल ने आगे बताया की इस ग्रूप में सिर्फ़ लोगों को उनकी आवाज़ से उनको पहचाना जाता था पर वो किसकी आवाज़ होती थी ये कोई नहीं जानता था. अतुल ने बताया की शुरुआत में ठीक ठाक बातचीत होती थी पर आगे चलकर उस ग्रुप में लोग महिलाओं के लिए अपशब्द का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया, गंदी-गंदी बातें बोलना शुरू कर दिया और अगर इस ग्रुप का कोई सदस्य उन्हें बोलने पर आपत्ति जताता था तो ये लोग उसे ही भला बुरा बोलना शुरू कर देते थे.

इतना ही नहीं उसे इस ग्रुप से भी निकाल देते थे या तो उसे इतना सुनाते थे की वो खुद ही ग्रुप से निकल जाता था. अतुल ने बताया की मैं उस ग्रुप में कुछ ही समय के लिए था, पर इस मामले के सामने आने के बाद उसकी ज़िंदगी में मानो तूफ़ान आ गया. उसकी वजह से उसे और उसके घर वालों को पुलिस स्टेशन के चक्कर काटने पड़े. घंटों-घंटों पुलिस स्टेशन में बैठना होता था.

अतुल ने लोगों से अपील की है की वो भी अगर इंटरनेट पर सर्फ़िंग करते रहते हैं तो उन्हें सम्भलकर रहना चाहिए. किसी भी ग्रुप का सदस्य बनने से पहले उस ग्रुप के बारे में जान लें. इंटरनेट पर अज्ञात आवाज़ को दोस्त बनाने से अच्छा आप जिसको जानते हैं, आपके जो पहले से ही दोस्त हैं जैसे की स्कूल, कॉलेज या आपके आसपास के लोग पर ही विश्वास करें.

साइबर सेल की DCP रश्मि करंडिकर ने ABP न्यूज़ को बताया की इस मामले में मुंबई साइबर सेल ने तीन लोगों को गिरफ़्तार किया जो की फ़िलहाल कस्टडी में हैं. मुंबई क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने पिछले महीने हरियाणा से तीन लोगों को क्लब हाउस एप्लिकेशन पर एक ऑडियो चैट रूम का हिस्सा होने के आरोप में गिरफ्तार किया, जिसमें उन्होंने महिलाओं को गालियां दी थी, उनपर अपमानजनक टिप्पणी की और उनकी और उनके प्राइवेट पार्ट की ऑनलाइन नीलामी भी की थी.

जिन तीन लोगों को गिरफ़्तार किया उनके नाम आकाश सुयल, जैश्नव कक्कड़ और यशकुमार पराशर है. जिनके क्लब हाउस पर Kira XD, @jaishav और pradhan@haryana_alla जैसे नाम थे. सुयाल हरियाणा के करनाल जिले का एक एचएससी का छात्र है जिसपर आरोप है की वो इस ऐप पर दो चैट रूम का मॉडरेटर था. जबकि कक्कड़ बी कॉम और पराशर लॉ का विद्यार्थी है दोनों को फरीदाबाद में उनके घर से गिरफ्तार किया गया था.

इसे भी पढ़ेंः
Jammu Kashmir Encounter: शोपियां में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ में दो जवान शहीद, एक आतंकी भी मारा गया

Maharashtra: अजीत पवार का बड़ा बयान, ‘मराठों को आरक्षण देने के लिए 50 फीसदी आरक्षण सीमा को हटाने की जरूरत’

Source link ABP Hindi