केदारनाथ में लगातार बर्फबारी से ढकी भगवान नंदी की मूर्ति, 6-7 फीट तक जमी बर्फ

Rudraprayag: केदारनाथ धाम में लगातार बर्फबारी (Snowfall in Kedarnath) जारी है, जिसकी वजह से यहां पर छह से सात फीट ऊंची बर्फ जम गई हैं. लगातार हो रही बर्फबारी से तापमान में भी अच्छी खासी गिरावट देखने को मिली है. यही नहीं भगवान नंदी की मूर्ति भी बर्फ से ढक गई हैं. बर्फबारी के वजह से यहां पर पिछले कई दिनों से पुननिर्माण के काम भी ठप हो गया है. धाम में बाबा बर्फानी ललित महाराज के साथ ही कुछ साधु-संत ही मौजूद हैं, जो सुबह और शाम मंदिर के आगे बाबा केदारनाथ की पूजा-अर्चना करने के साथ ही तपस्या कर रहे हैं.

केदारनाथ धाम में जमी 6-7 फीट बर्फ

केदारनाथ धाम में बर्फबारी के कारण छः से सात फीट तक बर्फ जम चुकी है. बाबा की नगरी में चारों ओर बर्फ ही बर्फ नजर आ रही है. नंदी भगवान भी बर्फ से ढक चुके हैं. पिछले दिनों मंदिर समिति के कर्मचारियों ने केदारनाथ पहुंचकर नंदी की मूर्ति को नये वस्त्रों से ढक दिया. जिससे मूर्ति को कोई नुकसान ना पहुंचे. धाम में ज्यादा बर्फबारी के कारण पुनर्निर्माण कार्य भी ठप पड़ चुके हैं. अब धाम में अप्रैल माह से पुनर्निर्माण कार्यों को शुरू किया जायेगा. धाम में बाबा बर्फानी ललित महाराज के साथ ही कुछ साधु संत मौजूद हैं, जो बाबा केदार की आराधना कर रहे हैं. ललित महाराज आपदा के बाद से धाम में रह रहे हैं. उनका आश्रम मंदिर से कुछ दूरी पर है. वे सुबह और शाम के समय बाबा केदारनाथ की पूजा-अर्चना कर रहे हैं.

ज्यादा बर्फबारी से परेशान हैं साधु संत

बाबा बर्फानी ललित महाराज केदारनाथ भगवान की तपस्या में लीन हैं. धाम में ललित महाराज कुत्तों की सेवा में भी जुटे हैं. इसके अलावा वे साधु संतों की सेवा भी कर रहे हैं. धाम में उन्होंने खाने का सामान रखा हुआ है, जिससे कोई भी समस्या ना हो. बर्फ को पिघलाकर पानी का उपयोग किया जा रहा है. धाम में ज्यादा बर्फबारी होने से साधु संतो को भी दिक्कतें हो रही हैं.

ये भी पढे़ं-

UP Election 2022: पीएम मोदी बोले- मैंने गरीबी के भाषण नहीं सुने, गरीबी में जिंदगी गुजारकर आया हूं

शाहजहां के उर्स के मौके पर ताजमहल का दीदार मुफ्त, असल कब्र तक जाने की इजाजत होगी

Source link ABP Hindi