उत्तर कोरिया के तानाशाह ने पिता की जयंती पर हजारों जनता को कड़ाके की सर्दी में रखा खड़ा

North Korean Dictator Kim Jong-Un: तानाशाह कहे जाने वाले उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन की क्रूरता की कहानियां किसी से छिपी नहीं है. आए दिन उनके कारनामें चर्चा का विषय बन जाते हैं. एक बार फिर उत्तर कोरिया के इस क्रूर शासक के बर्बरता की सभी हदें पार करने वाली घटना सामने आई है. दरअसल तानाशाह किम जोंग उन ने अपने पिता किम जोंग-इल की 80वीं जयंती पर कई कार्यक्रम का आयोजन किया था. इस दौरान उत्तर कोरिया के सैमजियन शहर में पड़ रही कड़ाके की ठंड के बीच देश की हजारों जनता को तानशाह किम के पिता जोंग-इल की प्रतिमा के सामने खड़े होकर अपने देश के नेता द्वारा पिता की तारीफ में पढ़े गए कसीदे सुनने पड़े.

इतना ही नहीं जमा देने वाले ठंड के बावजूद देश के कईं बड़े कलाकारों को ठंडे पानी के अंदर उतरकर परफॉर्मेंस भी देना पड़ा. मिली जानकारी के अनुसार इस पूरे कार्यक्रम के दौरान जिस जगह पर किम बैठे थे वहां बिजली के तार देखे गए जिसे हीटर माना जा रहा है. जिसका मतलब ये है कि किम ठंड में कार्यक्रम के दौरान खुद हीटर में बैठे थे जबकि हजारों की तादाद में जनता कड़ाके वाली ठंड में खड़े होकर उनका भाषण सुन रही थी.

फूल ना खिलने पर नाराजगी

बता दें कि इससे पहले उन्होंने पिता की जयंती तक कमजोंगिलिया बेगोनिया फूल नहीं खिलने से नाराज होकर इस फूल की देख रेख करने वाले मालियों को लेबर कैंप भेज दिया था. लेबर कैंप एक तरह का जेल ही है. किम जोंग उन के पिता किम जोंग-इल की मौत साल 2011 में हुई थी. उनके मरने के बाद सत्ता उनके बेटे और तानाशाह किम जोंग उन ने संभाली. वहीं अपने पिता की याद में किम हर साल इसी दिन डे ऑफ शाइनिंग स्टार कार्यक्रम आयोजित करते हैं.

ये भी पढ़ें:

UP Election: BJP सांसद ने की आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे की तारीफ, Akhilesh बोले- ये अनुपयोगी जी ने नहीं हमने बनवाया

UP Election: पांच साल बाद एक साथ चुनाव प्रचार करते दिखे अखिलेश, मुलायम और शिवपाल

Source link ABP Hindi