अमित शाह बोले- अगर आजादी के वक्त मोदी होते पीएम तो भारत में रहता करतारपुर साहिब

Punjab Election 2022: पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कांग्रेस पार्टी पर करारा हमला बोला है. अमित शाह ने कहा कि अगर भारत को आजादी मिलने के समय नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होते तो करतारपुर साहिब (Kartarpur Corridor) और ननकाना साहिब इस देश का हिस्सा होते. फिरोजपुर में एक चुनावी रैली में शाह ने कहा कि मोदी ने करतारपुर साहिब गलियारा खोलने की सिखों की लंबित मांग को पूरा किया.

करतारपुर कॉरिडोर सिखों के लिए धार्मिक भावना का विषय है. अमित शाह ने कहा, ”अगर भारत को आजादी मिलने के समय नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होते तो करतारपुर साहिब और ननकाना साहिब भारत का हिस्सा होते और ये पाकिस्तान का हिस्सा नहीं बनते.”

चार किलोमीटर लंबा करतारपुर गलियारा भारतीय सिख श्रद्धालुओं को गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने के लिए वीजा-मुक्त पहुंच प्रदान करता है. इसका उद्घाटन 2019 में हुआ था. पंजाब में 20 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है.

पीएम मोदी भी उठा चुके हैं यह मुद्दा

पठानकोट में बुधवार को एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस बंटवारे के समय करतारपुर साहिब को भारतीय क्षेत्र में रखने में नाकाम रही. उन्होंने कहा कि बाद में पाकिस्तान के साथ 1965 और 1971 के युद्धों के दौरान करतारपुर साहिब को भारत के क्षेत्र में शामिल करने का अवसर भी गंवा दिया गया.

कोविड 19 की वजह से करतारपुर कॉरिडोर लंबे वक्त तक बंद रहा था. पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र पिछले साल गुरु नानक जंयती के मौके पर लगभग सभी दलों की ओर से करतारपुर कॉरिडोर को खोलने की अपील की गई थी. जिसे केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया था.

Haryana News: हरियाणा सरकार को सुप्रीम कोर्ट से राहत, प्राइवेट नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण पर लगी रोक हटी

Source link ABP Hindi